रविवार, 17 अप्रैल 2011

कौन से मौसम में चले आए हो बादल...

बेमौसम बरसात ने दिल्ली को भिगो डाला है...अब बैठे ठाले मोबाइल में कुछ अशआर लिखे...उन्हें दिल्ली की बेमौसम लेकिन बामज़ा बारिश को समर्पित करता हूं...

ये कौन से मौसम में चले आए हो बादल
क्या तुम भी शायरों की तबीयत में ढल गए

तपते थे जिस्म तुमने भिगोए हैं इस तरह
मौसम की तरह रूह के तेवर बदल गए

जैसे मिजाज़ ए यार बदलता है यक ब यक
तुम आए और प्यास के मंज़र मचल गए

भीगा हूं मैं भी, यार भी भीगा हुआ होगा
बस बारिशों में अबकि तगाफुल निकल गए

है जिस्म भी हारा हुआ और रूह परेशां
आए जो तुम गरज के तो अरमान पल गए

हर रात तुम्हारे लिए जलता रहा हूं मैं
पानी में लगी आग देखो तुम भी जल गए...

मयंक सक्सेना

11 टिप्‍पणियां:

  1. ये कौन से मौसम में चले आए हो बादल
    क्या तुम भी शायरों की तबीयत में ढल गए

    तपते थे जिस्म तुमने भिगोए हैं इस तरह
    मौसम की तरह रूह के तेवर बदल गए
    Kya baat hai! Nihayat sundar gazal!

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेहतरीन.....बहुत उम्दा....एक-एक शेर दमदार...

    ये बादल क्या जानें मौसम की हकीकत
    जब जिधर हवा चली उस ओर चल दिए
    वैसे तो राह-ए-उल्फत में एक कदम है मुहाल
    कुछ यूं बुलाया तुमने कि हम भी चल दिए

    उत्तर देंहटाएं
  3. चर्चा मंच के साप्ताहिक काव्य मंच पर आपकी प्रस्तुति मंगलवार 19 - 04 - 2011
    को ली गयी है ..नीचे दिए लिंक पर कृपया अपनी प्रतिक्रिया दे कर अपने सुझावों से अवगत कराएँ ...शुक्रिया ..

    http://charchamanch.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  4. ये कौन से मौसम में चले आए हो बादल
    क्या तुम भी शायरों की तबीयत में ढल गए... waah, kya baat hai !

    उत्तर देंहटाएं
  5. हर रात तुम्हारे लिए जलता रहा हूं मैं
    पानी में लगी आग देखो तुम भी जल गए..

    bahut hi khoobsurut khayaal he janab!
    badhai kabule!

    उत्तर देंहटाएं
  6. है जिस्म भी हारा हुआ और रूह परेशां
    आए जो तुम गरज के तो अरमान पल गए
    ...बहुत खूब...हम तो आपके लेखनी के मुरीद हो गए हैं....

    उत्तर देंहटाएं
  7. है जिस्म भी हारा हुआ और रूह परेशां
    आए जो तुम गरज के तो अरमान पल गए

    बढिया ।

    उत्तर देंहटाएं
  8. यूँ आज़ फिर बादल के अन्दाज़ बदल गये

    लब थरथराये और फिर अरमाँ मचल गये

    उत्तर देंहटाएं

काल चक्र

हिन्दी फोनेटिक कुंजी पटल

देवनागरी